बिना इंटरनेट कैसे इस्तेमाल करे गूगल असिस्टेंट?
Sponsored Links

दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी गूगल ने की बड़े अपडेट की घोषणा, एक कमांड में बदलेगी भाषा

गूगल ने भारत में गूगल असिस्टेंट यूजर्स के लिए बड़े अपडेट की घोषणा की है. इस अपडेट के तहत गूगल असिस्टेंट से हिंदी में बात करने के लिए अब यूजर्स को केवल ‘ओके गूगल, हिंदी बोलो’ या ‘टॉक टू मी इन हिंदी’ कहना होगा. गूगल असिस्टेंट सिर्फ हिंदी ही नहीं गुजराती, तेलगू, उर्दू, बंगाली और कन्नड़ जैसी दूसरी भारतीय भाषाओं में भी बात करेगा.

इसके अलावा, गूगल ने घोषणा की है कि यूजर्स अब गूगल असिस्टेंट पर हिंदी में खबरें देख सकते हैं. इसके लिए यूजर्स को गूगल असिस्टेंट से ‘ओके गूगल, हिंदी न्यूज’ कहना होगा. साथ ही, गूगल, फोन कॉल के जरिये असिस्टेंट उपलब्ध कराने के लिए काम कर रहा है.

यह लेटेस्ट फीचर ऑफर करने के लिए गूगल ने वोडाफोन-आइडिया के साथ पार्टरनशिप की है. गूगल लखनऊ और कानपुर में फोन कॉल के जरिये असिस्टेंट को टेस्ट कर रहा है. असिस्टेंट से कनेक्ट के लिए यूजर्स 000-800-9191-000 पर कॉल कर सकते हैं. इसके अलावा, गूगल के ‘बोलो’ ऐप को भी अपडेट किया गया है. यह बांग्ला, मराठी, तमिल, तेलगू और उर्दू को सपॉर्ट करेगा.

गूगल फॉर इंडिया इवेंट में जिस सबसे बड़े फीचर की घोषणा हुई है, वह है इंटरप्रेटर मोड. यह लेटेस्ट फीचर हिंदी और अंग्रेजी में बात करने वाले दो लोगों के बीच रियल-टाइम ट्रांसलेशन उपलब्ध करायेगा. गूगल ने कहा है कि वह डोमिनोज से पिज्जा ऑर्डर करने, ओला कैब्स से राइड की बुकिंग करने या अपने बैंक अकाउंट का बैलेंस चेक करने जैसी चीजों के लिए भी वॉइस कमांड पर काम कर रहा है.

असिस्टेंट गुजराती, तेलगू, उर्दू, बंगाली और कन्नड़ में भी करेगा बात

बिना इंटरनेट के इस्तेमाल कर सकेंगे गूगल असिस्टेंट

कंपनी के मुताबिक, गूगल के उपभोक्ता फोन के जरिये गूगल असिस्टेंट का इस्तेमाल कर सकेंगे. इस सर्विस के लिए इंटरनेट की जरूरत नहीं पड़ेगी. गूगल असिस्टेंट को चलाने के लिए यूजर्स को सिर्फ ओके गूगल कमांड देनी होगी. बता दें कि कंपनी ने दो वर्ष पूर्व गूगल असिस्टेंट को लॉन्च किया था.

गूगल लेंस हुआ पेश

गूगल ने इस दौरान गूगल लेंस के अपग्रेडेड वर्जन को लॉन्च किया है. अब यूजर्स गूगल लेंस के माध्यम से कंटेंट का रियल टाइम में अनुवाद कर सकेंगे. इसके साथ ही उपभोक्ताओं को ट्रांसलेट वाला कंटेंट सुनाई देगा. गूगल ने लेटेस्ट गूगल लेंस में तीन भाषाओं का सपोर्ट दिया है.

गूगल लाया टोकनाइज्ड कार्ड, बैंकों के साथ टाइअप

भारत में गूगल पे यूजर्स के लिए टोकनाइज्ड कार्ड जल्द ही उपलब्ध होगा. लॉन्च होने पर टोकनाइज्ड कार्ड एचडीएफसी, कोडक, स्टैंडर्ड चार्टर्ड और एसबीआइ के लिए वीजा कार्ड्स पर उपलब्ध होगा. गूगल पे पर टोकनाइज्ड कार्ड्स के लिए मास्टर कार्ड और रुपे कार्ड्स को जल्द इंटीग्रेट किया जायेगा. इसके अलावा, गूगल ने ‘गूगल रिसर्च इंडिया’ की घोषणा की है. बेंगलुरु बेस्ड यह सेंटर देश में एडवांस फंडामेंटल कंप्यूटर रिसर्च पर फोकस करेगा.

Sponsored Links
News Reporter

Leave a Reply