गूगल असिस्टेंट में जुड़ है नया फीचर
Sponsored Links

अब भारतीय उपभोक्ता गूगल असिस्टेंट से जुड़े अनेक नये फीचर से रू-ब-रू होंगे. इनमें फोन लाइन, लैंग्वेज डीकपलिंग, फूड डिलीवरी सपोर्ट, एप एक्शन, इंटरप्रेटर मोड, वीडियो न्यूज समेत अनके नयी सहूलियतें शामिल हैं.

गूगल असिस्टेंट फोन लाइन

गूगल का यह फीचर भारत के वोडाफोन-आइडिया सब्सक्राइबर के लिए होगा. यह नया फीचर उन यूजर्स को राहत पहुंचायेगा जिनकी इंटरनेट कनेक्टिविटी अच्छी नहीं है या जिनके पास फीचर फोन है. जिन लोगों के पास अभी भी 2जी फोन ही है और जहां गूगल असिस्टेंट हमेशा ऑनलाइन काम नहीं कर सकता है, यह फीचर उनके लिए भी मददगार होगा.

गूगल असिस्टेंट फोन लाइन के साथ वोडाफोन-आइडिया के कनेक्ट होने के लिए यूजर्स को एक नंबर 000 800 9191 000 डॉयल करना होगा और असिस्टेंट को फोन से कनेक्ट करने के लिए कहना होगा.

यह लाइन हिंदी और अंग्रेजी दोनो भाषाओं में काम करेगी. यह फोन लाइन सब्सक्राइबर को मौसम की विस्तृत जानकारी देने, यातायात का ताजा हाल बताने, कौन सी दुकान खुली है, इसकी सूचना देने, गणित के सवाल का जवाब देने में यूजर्स की मदद करेगी.

इस लाइन की मदद से आप न्यूज आर्टिकल यानी समाचार आलेख भी पढ़ सकेंगे. गूगल असिस्टेंट की यह फोन लाइन दिन-रात किसी भी समय उपयोग में लायी जा सकती है. यह सेवा यूजर्स को नि:शुल्क दी जायेगी. गूगल की मानें तो, शुरुआत में उसने प्रयोग के तौर पर लखनऊ और कानपुर में इस फीचर काे रन कराया था.

लैंग्वेज डीकपलिंग

भारत की भाषायी विविधता को देखते हुए गूगल अपने असिस्टेंट के लिए लैंग्वेज डीकपलिंग नाम से एक नया फीचर लेकर आया है. इस फीचर के तहत यूजर्स, गूगल असिस्टेंट से हिंदी समेत सात क्षेत्रीय भाषाओं (मराठी, गुजराती, बंगाली, तेलुगू, कन्नड़, तमिल और उर्दू) में भी प्रश्न पूछ सकेंगे. इसके लिए फोन की लैंग्वेज सेटिंग बदलने की कोई जरूरत नहीं. इस प्रकार यूजर्स फोन की भाषा अंग्रेजी के साथ ही, अपनी भाषा में भी गूगल असिस्टेंट से बात कर सकेंगे.

इस सुविधा के लिए गूगल असिस्टेंट को अपडेट करना होगा. इसके बाद असिस्टेंट की डिफॉल्ट भाषा को हिंदी में स्विच करने के लिए गूगल से कहना होगा, ‘हे गूगल, मुझसे हिंदी में बात करो.’ ऐसा कहने के बाद एप अपनी भाषा हिंदी में बदल देगा. गूगल का कहना है कि इस फीचर को सभी एंड्रॉयड, एंड्रॉयड गो और काइओएस डिवाइसेज के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है.

एप एक्शन

भारत में असिस्टेंट के लिए इस फीचर को लाने के लिए गूगल स्थानीय ब्रैंड के साथ साझेदारी कर रहा है. गूगल असिस्टेंट का एप एक्शन आने के बाद यूजर की जिंदगी और आसान हो जायेगी. इस एप के माध्यम से यूजर्स कैब या ओला बुक कर पायेंगे, हेल्थफाइमी से अपनी कैलोरी अपडेट के बारे में जानकारी हासिल कर पायेंगे. इतना ही नहीं, इस फीचर के जरिये बैक अकाउंट से अपने बैंक बैलेंस के बारे में भी जाना जा सकेगा.

इस फीचर का लाभ लेने के लिए यूजर्स को गूगल असिस्टेंट से बात करके उसे कमांड देना होगा कि उसे क्या करना है. इसके बाद असिस्टेंट एप का संबंधित हिस्सा खोल देगी. गूगल का यह फीचर भारतीय एप्पल यूजर के लिए नया नहीं होगा, क्योंकि एप्पल का सिरी पहले से ही भारत में इस तरह का फीचर दे रहा है, जिसका इस्तेमाल कर यूजर उबर बुक कर सकते हैं.

इंटरप्रेटर मोड

यह एक रियल-टाइम ट्रांसलेटर है. भारत के एंड्रॉयड और एंड्रॉयड गो फोन में आगामी महीनों में यह सुविधा उपलब्ध हो सकती हैं. इस फीचर के माध्यम से हिंदी में कही बातें रियल-टाइम में अंग्रेजी में और अंग्रेजी में कही बातें रियल-टाइम में हिंदी में अनुदित हो सकेंगी. इस प्रकार हिंदी और अंग्रेजी में बोलने वाले लोग एक दूसरे से अपनी बात कह पायेंगे. इसे ऐसे समझा जा सकता है. एक अंग्रेजी वक्ता गूगल असिस्टेंट से यह आग्रह कर सकेगा कि वह किसी दूसरे हिंदी भाषी व्यक्ति के साथ उसकी बातचीत में मदद करे.

जैसे, पहला व्यक्ति अंग्रेजी में अपनी बात कहेगा, जो रियल-टाइम में अनुदित होकर सामनेवाले व्यक्ति को हिंदी में सुनाई देगा. ठीक ऐसा ही हिंदी भाषी व्यक्ति के साथ भी होगा. वह असिस्टेंट से हिंदी में अपनी बात कहेगा जो अनुदित होकर अंग्रेजी में दूसरे व्यक्ति को सुनाई देगा. अनुदित सामग्री को गूगल असिस्टेंट तेज आवाज में बोलेगा ताकि दूसरा व्यक्ति उसे सुन सके.

वीडियो न्यूज

गूगल असिस्टेंट के जरिये अब यूजर बहुत जल्द वीडियो समाचार भी देख पायेंगे. इस समाचार की सामग्री यूजर की भाषा वरीयता के आधार पर हिंदी और अंग्रेजी में उपलब्ध होगी. वीडियो समाचार देखने के लिए यूजर को गूगल असिस्टेंट से कहना होगा, ओके, गूगल मुझे हिंदी/अंग्रेजी में कुछ समाचार दिखाओ.

इसके बाद गूगल आपको आपकी पसंदीदा भाषा में समाचार और वीडिया समाचार दिखायेगा. गूगल के एक अधिकारी का कहना है कि वीडियो समाचार में भारत के लोगों की दिलचस्पी को देखते हुए गूगल ने असिस्टेंट मेें यह नया फीचर जोड़ा है.

फूड डिलीवरी सपोर्ट

गूगल असिस्टेंट अब भारत में फूड डिलीवरी को भी सपोर्ट करेगा. इसके लिए गूगल डॉमिनोज, फ्रेशमेन्यू, फासॉस, डुन्जो समेत भारत के अन्य फूड डिलीवरी रेस्टोरेंट के साथ साझेदारी कर रहा है. भारतीय ग्राहकों के लिए इस वर्ष के अंत तक गूगल यह फीचर लॉन्च कर सकता है.

इस फीचर के साथ यूजर अब गूगल को अपनी पसंदीदा खाद्य सामग्री मंगाने के लिए कमांड दे सकेंगे. उदाहरण के लिए, गूगल असिस्टेंट से यह कहने पर कि, ‘हे गूगल डॉमिनोज से एक पिज्जा ऑर्डर करो’, आपके सामने एक संबंधित पेज खुलेगा, जहां से यूजर अपना ऑर्डर प्लेस कर सकेंगे.

गूगल असिस्टेंट अब भारत में फूड डिलीवरी को भी सपोर्ट करेगा. इसके लिए गूगल डॉमिनोज, फ्रेशमेन्यू, फासॉस, डुन्जो समेत भारत के अन्य फूड डिलीवरी रेस्टोरेंट के साथ साझेदारी कर रहा है. भारतीय ग्राहकों के लिए इस वर्ष के अंत तक गूगल यह फीचर लॉन्च कर सकता है.

इस फीचर के साथ यूजर अब गूगल को अपनी पसंदीदा खाद्य सामग्री मंगाने के लिए कमांड दे सकेंगे. उदाहरण के लिए, गूगल असिस्टेंट से यह कहने पर कि, ‘हे गूगल डॉमिनोज से एक पिज्जा ऑर्डर करो’, आपके सामने एक संबंधित पेज खुलेगा, जहां से यूजर अपना ऑर्डर प्लेस कर सकेंगे.

Sponsored Links
News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *